शुक्रवार, 12 जुलाई 2019

टुकड़े ....

"मैं " हम के छोटे छोटे नुकीले हुए टुकड़े हैं  ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

लिपि

दुःख .... छोटी लिपि का अत्यंत बड़ा शब्द