सोमवार, 22 जुलाई 2019

मुतकल्लिम ...

शायर मशहूर है बहुत वो जो मुतकल्लिम है मेरे जख्मों का

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

लिपि

दुःख .... छोटी लिपि का अत्यंत बड़ा शब्द