शनिवार, 23 नवंबर 2019

सादगी



सादी सी बात सादगी से कहो न यार .... 
जाने क्या क्या मिला रहे .....
फूल पत्ते 
मौसम बहार
सूरज चाँद
रेत समंदर
दिल दिमाग
सूरत को तेरी सीरत चाहिए ।
बस इतना ही तो कहना है । क्या बातों के छल्ले फेंकना?
लो कह दिया ....
मिला क्या ?

बुधवार, 18 सितंबर 2019

बाँसुरी....

दिल के तीन खानों में उसकी प्रेमिकाएं जीवंत रहती और चौथे खाने में वो अपने परिवार के साथ खुशी खुशी रहता था।
बचपन में एक pied piper की कहानी पढ़ी थी। साज से मंद बना देने वाली । अक्सर लगता है ये वही pied piper है जो कभी अपने राग से तो कभी स्वांग से चुहिया बहाता नहीं ...बस बना लेता है।

ख़ास बात और सबसे तारीफ़ करने वाली बात ये है कि उसके मन के कपट का पता नहीं लगता क्योंकि उसकी बनाई हुई सारी प्रेमिकाएं  जब भी खुद को आईने में देखती तो खुद को औरत और दूसरों को चुहिया ही दिखती ।
सब खुशी खुशी उसके तीन तहखानों में रमी रहती। वो जब चाहता चौथे तहखाने की खिड़की से झाँक लेता ।बस उसी पल सारी प्रेमिकाएं औरत हो जाती और वो किवाड़ बंद कर देता।

दिल धप्प से बैठता नहीं.... बंट जाता  ।सबमें बड़ा और ताज़ा तरीन टुकड़ा फिर भी चौथे खाने में ही पहुँचता ।बाक़ी तीन खानों में दिल और दिलबर होने का भरम पाले प्रेमिकाएं  रक्स करती दिन रात।

"The Pied piper " प्यार से अपनी बाँसुरी को गाहे बगाहे "कलम" कह कर चूमता रहता।

पदार्थ

पृथ्वी का सबसे तरल पदार्थ  .....स्त्री

और सबसे ठोस ?
स्त्री का मौन

सोमवार, 26 अगस्त 2019

पायदान

एक किताब..... कई मुकाम

दुकान
मंच
महफ़िल
सम्मान
पुरस्कार
हाहाकार
से उतर कर जब वो किताब हमारे
शेल्फों
दराजों
आंखों
होठों
हथेलियों
सीनों
सिरहानों से मन तक पहुंचती है  ....
बस उसी रोज़ वो छपती है ।

किताब पायदान चढ़ना उतरना जानती है।

रविवार, 18 अगस्त 2019

Notes.....

Fantasy...
One day I will rewrite myself  .
Let me be you on this reincarnation  day .

Skill....
Love uses its absence to be seen and to be heard most of the time.

Irony....
Most common resource called love sucks faster than most talked about gem called life.

Truth...
Withdrawal always establishes a strong bond within yourself.

Game....
Never be a habit rather choose to play hide and seek to this world.

Advice....
Never be just someone...  always remain someone's imagination .

Ego..
Guard your aura... This is the only rare offering you have for the world .

Longitivity...
Accessible love fades faster ....Retain yourself every now and then.

प्रसाद और श्राप

प्रतीक्षा ,एकांत ,उदासी... प्रेम से मिला प्रसाद है और हताशा उससे मिला श्राप

शुक्रवार, 19 जुलाई 2019

स्पर्श

स्पर्श से थोड़ा अलग है प्रेम

  ले जाओ......
  गर ले सको l

 

खरा था ....कि खारा ?

जब तलक खरे हैं तालाब और कुँए तब तक ही डुबो सकते हो तुम खारा समुंदर .....

उसके बाद सिर्फ़ और सिर्फ़ वेग फूटेगा ...
वाणी से बल तक का

आक्रोश का उद्गम नहीं होता ....

बस अंत होता है...
एक विचारधारा का
एक पीड़ा का
एक साहसी का
एक चुप का

रक्त बहा क्या  ?
खरा था ....कि खारा ?

मंगलवार, 16 जुलाई 2019

अंतस से देह की बातें....

पुरुष पानी है और स्त्री पत्थर

पानी स्त्री पर निशान छोड़ता है
स्त्री पानी पर कोई निशान नहीं छोड़ती।

अंतस से देह की बातें....

सोमवार, 15 जुलाई 2019

शुक्रवार, 12 जुलाई 2019

टुकड़े ....

"मैं " हम के छोटे छोटे नुकीले हुए टुकड़े हैं  ।

शून्य..

हमें आकार लेना कभी नहीं आया
शून्य जैसा भी नहीं।

तलब...

मेरी प्यास में दखल न दे.....
यहाँ सवाल आब का नहीं तलब का है

हँसती हुई स्त्री

हँसती हुई स्त्री दुनिया में बेहद कम आँखों को बख्शी गयी हैं ...

उन ज्यादा आँखों को शिफ़ा पहुंचे।

कल्पना💐

बुधवार, 10 जुलाई 2019

बंधन

वो अद्धभुत महसूस करो
ठीक उस घड़ी जब वो सामने हो रहा हो
रुको मत
हक़ भी न जमाओ  
घुलने दो
उस पर अपना नाम न उकेरो

इस एकांत को सुनो....
अबकी जो तुम खो दोगे वो लौट कर नहीं आएगा
और वो जो छूट गया बस वही रह रह कर लौटेगा तुम्हारी परिधि में
फिर एक उदासी बन कर
दो आँसू एक हंसी रच कर

जादू होने को है
चूमते रहो इस पल की खूबसूरत उंगलियों को
सगरे प्रश्न गला दो
सारे उत्तर भी छिपा दो

एक बंधन चटकने को है
नीली स्याही से सफेद मन पर

कल्पना💐

गुरुवार, 4 जुलाई 2019

अंतर्मन

तुम मेरी अन्तर्मन वाली लिखावट हो ....
लिपि ,
भाषा,
चिन्हों
और विधाओं से मुक्त
बस मुझमें
कही ,
सुनी
और देखी जा सकने वाली

सादगी

सादी सी बात सादगी से कहो न यार ....   जाने क्या क्या मिला रहे ..... फूल पत्ते   मौसम बहार सूरज चाँद रेत समंदर दिल दिमाग स...