सोमवार, 4 जून 2018

उदास नज़्म



कागज़ में
उदासियों को भरकर
धुंआ सा
उड़ा देने से बेहतर है 
उन्हें गाज बनाकर
कागज़ पर ही रख छोड़ ना
कुछ देर बाद 
उदास नज़्म 
उभरेगी जरूर।
वो उदासी 
कहेगी जरूर।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यात्रा

प्रेम सबसे कम समय में तय की हुई सबसे लंबी दूरी है... यात्रा भी मैं ... यात्री भी मैं