शनिवार, 5 मई 2018

नए दुख



हम अपने पुराने दुख ,अवसाद और उदासियों को recycle करना सीख गए हैं।इसलिए नए दुख इज़ाद नहीं कर पाते।
ठीक से जी नहीं पाते नए प्रेम

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

बिम्ब

एक शब्द लिखकर सैंकड़ों बिम्ब देखोगे? लिखो.... "प्रेम" मैं चुप थी पर चुप्पी कभी नहीं थी मेरे पास अब बस चुटकी सा दिन बचा है । अप...