गुरुवार, 22 जून 2017

डर....

जितना जुड़ोगे .....उतना टूटोगे
खो देने का डर जुड़ने नहीं देगा..... जकड़ देगा
इश्क़ ...तुम्हें दीपक सा बहा दिया आज
जलते रहो आस पास ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

सादगी

सादी सी बात सादगी से कहो न यार ....   जाने क्या क्या मिला रहे ..... फूल पत्ते   मौसम बहार सूरज चाँद रेत समंदर दिल दिमाग स...