बुधवार, 30 नवंबर 2016

कवायद

इसे बस इक इत्तेफ़ाक़ ही समझियेगा.... कि आप चले आये 
वर्ना.....
यहाँ कवायद तो मेरी ख्वाइशों की हो रही थी

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यात्रा

प्रेम सबसे कम समय में तय की हुई सबसे लंबी दूरी है... यात्रा भी मैं ... यात्री भी मैं