Follow by Email

सोमवार, 10 अक्तूबर 2016

रिश्ता....

जाने कौन सा रिश्ता है ......
जो हर बार तुझसे मिल कर फिर शुरू हो जाता है
हूबहू पहली बार की तरह  .......

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें