सोमवार, 30 मई 2016

Cheers !

मैं ....
अपनी ख्वाइशों का प्याला
रोज़ ...
दो ही चीज़ों से भरती रहूंगी
कभी जीत से ...
कभी उस जीत को पाने की रीत से
वो क्या कहते हैं.... हर जश्न के बाद .... Cheers !

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यात्रा

प्रेम सबसे कम समय में तय की हुई सबसे लंबी दूरी है... यात्रा भी मैं ... यात्री भी मैं