रविवार, 8 मई 2016

बचपन....

सब कुछ है मेरे इख्तियार में ......
बस .....वो बचपन की मासूमियत
मेरे हिस्से नहीं आती
सच है .....
उम्र की किताब ....... फिर पलटी नहीं जाती

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यात्रा

प्रेम सबसे कम समय में तय की हुई सबसे लंबी दूरी है... यात्रा भी मैं ... यात्री भी मैं