गुरुवार, 17 मार्च 2016

खामोशियों के प्यादे....

आज शब्दों को पिघलने दो ......दरमियाँ

आज की बिसात...... खामोशियों के प्यादे खेलेंगे
बस...... तुम सुनते रहना
मुझे ....कहने देना

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यात्रा

प्रेम सबसे कम समय में तय की हुई सबसे लंबी दूरी है... यात्रा भी मैं ... यात्री भी मैं