Follow by Email

शुक्रवार, 29 जनवरी 2016

रिश्ते......

ज़िन्दगी की बिसात पर ,प्यादे हिलाना आ गया
अल्लाह शुक्र .....हमें भी रिश्ते निभाना आ गया

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें