Follow by Email

शनिवार, 30 जनवरी 2016

जिक्र.....

आफताब हूँ ,जुगनू नहीं पालता 
फक्र है .....फ़िक्र नहीं 
तेरी काबिलियत में मेरा जिक्र तो है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें