Follow by Email

शुक्रवार, 29 जनवरी 2016

बेहद......

तेरे 
साये में रहना .....
"पाबन्दी "नहीं ....."ज़िद्द "है मेरी 
ये हद "खुदा" भी देखे .....
जो अब "बेहद "है मेरी

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें